बुआ, बबुआ और राहुल बाबा मिल कर भी यूपी में 74 सीट जीतने से नहीं रोक पाएंगे

0

डेस्क: उत्तेर प्रदेश के मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नामकरण पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर किये जाने के मौके पर आयोजित सभा को सम्बोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राष्ट्रीय नागरिकता पंजी (एनआरसी) का जिक्र करते हुए कहा, हमें देश से बांग्लादेशी घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालना है।
उन्‍होंने कहा, मोदी सरकार ने उच्चतम न्यायालय के आदेश के तहत एनआरसी बनाया। ममता बनर्जी और कांग्रेस कहती हैं कि एनआरसी नहीं होना चाहिये, मैं राहुल बाबा से पूछना चाहता हूं कि इस देश में एनआरसी होना चाहिये कि नहीं, मगर वह जवाब नहीं देते। आप सब बताइये कि बांग्लादेशी घुसपैठियों को निकालना चाहिए कि नहीं।
शाह ने विपक्ष की एकता के प्रयासों पर प्रहार करते हुए कहा कि आज पूरा विपक्ष देश भर में भ्रम फैला रहा है कि सपा, बसपा इकट्ठा होंगे तो उत्तर प्रदेश के चुनावी समीकरण पर क्या असर होगा। उन्होंने दावा किया ‘सिर्फ बुआ (बसपा प्रमुख मायावती) और भतीजा (सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव) ही नहीं राहुल भी मिल जाएं तो भी हमारी 73 की जगह 74 सीटें होंगी, 72 नहीं होंगी। मैं उनको चुनौती देता हूं कि आ जाओ गंगा-यमुना के मैदानों में यहां भाजपा की जीत के अलावा और कुछ नहीं हो सकता।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आज भाजपा के हर कार्यकर्ता के लिये बहुत महत्वपूर्ण दिन है। क्योंकि जिस स्थान पर पंडित उपाध्याय की ‘हत्या’ हुई थी, उस मुगलसराय स्टेशन का नाम उनके नाम से जोड़ने का महान कार्य आज सम्पन्न हुआ है।
उन्होंने कहा कि वह वर्ष 2013 से उत्तर प्रदेश का लगातार दौरा कर रहे हैं। जब तक उत्तर प्रदेश में विकास नहीं होता, तब तक देश का विकास अधूरा रहेगा। प्रदेश में भी खासकर पूर्वांचल जब तक विकसित नहीं होता, देश का विकास नहीं हो सकता। आज मुझे कहते हुए खुशी है कि पूर्वांचल में पिछले 70 साल में जितना पैसा खर्च नहीं हुआ, मोदी सरकार ने चार साल में खर्च कर दिया।

Spread the love
Hindi News से जुड़े हर अपडेट और को जल्दी पाने के लिए Facebook Page को लाइक करें और विडियो देखने के लिए Youtube को सब्सक्राइब करें।

Leave A Reply