Breaking News
Home / News / राहुल ने पत्रकारों से कहा ,मेरी मां उतनी ही भारतीय हैं जितने मोदी , मेरी मां ने देश के लिए त्याग किया है

राहुल ने पत्रकारों से कहा ,मेरी मां उतनी ही भारतीय हैं जितने मोदी , मेरी मां ने देश के लिए त्याग किया है

प्रदीप उर्मिल :
बंगलुरु : कर्णाटक चुनाव के अंतिम दिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि
मेरी मां सोनिया गाँधी का जन्म भले ही इटली में हुआ हो लेकिन उनके जीवन का अधिक समय भारत में ही
बीता है ,वे उतनी ही भारतीय हैं जितने कि मोदी .उन्होंने देश के लिए त्याग किया है . बहरहाल राहुल ने अपनी मां
के भारतीय होने की तुलना प्रधानमंत्री मोदी के भारतीय होने से करके यह बताने की कोशिश जरुर की है कि उनकी
माँ सोनिया प्रखर राष्ट्रवादी हैं .उनमे भारत की आत्मा निवास करती है . देश को यह बताने की जरुरत राहुल को आखिर
क्यों पड़ी? सोसल मीडिया ने बार डांसर सोनिया गाँधी के भारत की महानेत्री बनने तक के सफ़र का खुलासा कर दिया है ,
वे कितनी भारतीय हैं इसका सही आकलन भी कर चूका है . वे हिन्दुओं से कितना नफरत करती हैं इस बात का खुलासा
भी पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने अपने किताब में कर दिया है .मनमोहन सिंह के कंधे पर देश की बागडोर चलानेवाली
सोनिया ने यूपीए के शासन काल में न जाने कितने गुल खिलाये ,कितने करोड़ों का घोटाला किया ,कितने हिन्दू साधू संतों
शंकराचार्य को फर्जी मामले में सलाखों के भीतर धकेला यह सारी बातें भी आईने की तरह साफ हो गई हैं .साध्वी प्रज्ञा स्वामी
असीमानंद ,कर्नल पुरोहित ,कर्नल पठानिया जैसे राष्ट्र भक्त जाम्बांजों को सोनिया ने अपने निहित स्वार्थ के लिए फर्जी
मामलों में फंसाकार जेल में ठूंस दिया इस बात की जानकारी से देश अवगत हो चूका है . यूपीए के शासनकाल के दौरान गृह मंत्री
रहते हुए पी चिदम्बरम और सुशिल शिंदे ने जिस तरह बेवाकी के साथ भगवा आतंक की बात कही क्या कभी देश में हो रहे
आतंकवादी विश्फोटों में पाकिस्तानी आतंकवादियों का नाम उजागर होने पर भी कभी इस्लामी आतंकवाद की बात कही ?
सोनिया ने देश के हिन्दुओं पर नकेल कसने के लिए दंगा के समय केवल हिन्दुओं की गिरफ्तारी और सामूहिक जुरमाना वाला
कानून बनाने की तैयारी कर चुकी थी लेकिन बीजेपी के रूप में मजबूत विपक्ष ने इसका जब जोरदार प्रतिरोध किया तो सोनिया
को पिछने हटने पड़ा था . जरा सोचिये अगर यह बिल पास हो जाता तो क्या होता ? कोई भी मुसलमान अपने पडोशी हिन्दू
के खिलाफ दंगा करने का आरोप लगाकर उसको गैरजमानती धारा में बंदी बनाकर उसकी सम्पति को कब्ज़ा करने और सरकारी
सुविधा का लाभ लेकर आराम से चैन की जिन्दगी बशर करता जबकि हिन्दू का परिवार निर्दोष रहते हुए भी जेल और जमानत
के बीच पीसकर रह जाता . तो यह है कथोलिक इसाई सोनिया का असली चेहरा .ये है भारत की आत्मा जो आतंकियों के मारे
जाने पर रोती है .जो हिन्दुओं के इसाई धर्म में परिवर्तन कराने वाली टेरेसा को भारत रत्न देती है .और ईसाईयों को वापस
हिन्दू धर्म में लानेवाले शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती को फर्जी मामले में जेल में डाल देती है .

Spread the love

About admin - channel Hindustan

Check Also

कबतक जलाओगे कैंडल ?विषैला वामपंथ और उसका मानवाधिकार फिर धनञ्जय को बचाने आएगा

गौरव भारद्वाज : आपको बलात्कार के विरोध में कैंडल जलाते और उस बहाने से पितृसत्ता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *