Breaking News
Home / राष्ट्रीय / Chandrayaan-2: पिछले मिशन से कितना अलग, ये हैं बड़ी तकनीकी चुनौतियां

Chandrayaan-2: पिछले मिशन से कितना अलग, ये हैं बड़ी तकनीकी चुनौतियां

चैनल हिंदुस्तान डेस्क: भारत का चंद्रयान-2 अब से कुछ घंटों के बाद चांद की सतह पर लैंड करेगा। चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर चांद की सतह पर उतरेगा, जिसके बाद भारतीय वैज्ञानिकों का मिशन चांद शुरू होगा। चंद्रयान-1 जो काम नहीं कर पाया था, अब चंद्रयान-2 उसी काम को आगे बढ़ाएगा। 6 सितंबर की देर रात को जब चांद पर चंद्रयान-2 की लैंडिंग हो रही होगी तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसरो के सेंटर में मौजूद होंगे।

मिशन चंद्रयान-2 चांद के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने वाला पहला यान होगा, साथ ही ये ऐसा पहला यान होगा जिसकी भारत सॉफ्ट लैंडिंग करा रहा है। जब चंद्रयान-2 चांद की सतह पर पहुंचेगा तो बहुत कुछ खास होगा, जिसपर वैज्ञानिकों की नज़र होगी।

विक्रम लैंडर: विक्रम लैंडर को चंद्रमा की सतह पर भारत की पहली सफल लैंडिंग के लिए डिज़ाइन किया गया है। इसी के अंदर रोवर मौजूद है।

प्रज्ञान रोवर: रोवर ए आई-संचालित 6-पहिया वाहन है, इसका नाम ”प्रज्ञान” है, जो संस्कृत के ज्ञान शब्द से लिया गया है। यही रोवर चांद की सतह पर उतरेगा और काम करेगा। इसका मकसद वहां से जानकारी जुटाना होगा, जिसे वह वैज्ञानिकों को भेजेगा।
ISRO की वेबसाइट के अनुसार, प्रज्ञान रोवर चंद्रमा पर उतरने की जगह से पांच सौ मीटर की दूरी तक चल सकता है।

इस मिशन की कुछ तकनीकी चुनौतियां हैं:

  • चंद्रमा की सतह पर उतरते समय बेहद कम स्वजचालित गति सुनिश्चित करने के लिए थौटलेवल इंजनों वाला प्रोपल्श न सिस्टवम।
  • मिशन मैनेजमेंट- विभिन्नश चरणों पर प्रोपलैंट मैनेजमेंट, इंजन जलाना, कक्षा (ऑर्बिट) और प्रक्षेप पथ (ट्रैवेलरी) का डिजाइन।
  • लैंडर विकास- दिशा सूचक (‍नेविगेशन), निर्देशन और नियंत्रण, दिशा बताने और बाधा से बचने के लिए नेविगेशन सेंसर और आराम से उतरने के लिए लैंडर लौग मैकेनिज्मन।
  • रोवर विकास- लैंडर मैकेनिज्मर से रोल डाउन, चंद्रमा की सतह पर रोविंग मैकेनिज्मो, पावर प्रणालियों का विकास और परीक्षण, थर्मल (तापीय) प्रणालियां, संचार और मोबिलिटी प्रणालियां।
Spread the love

About desk

Check Also

आतंकवाद के बाद अब बारी नक्सलवाद की बारी, 10 राज्यों संग अहम बैठक कर रहे अमित शाह

चैनल हिंदुस्तान डेस्क: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के नेतृत्व में नक्सलियों के खिलाफ चल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *