EVM पर सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग से भी विपक्ष को झटका

0

चैनल हिंदुस्तान डेस्क: लोकसभा चुनाव के नतीजों से पहले एक्जिट पोल आने के बाद घबराए विपक्ष को सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग से भी झटका लगा है। वीवीपैट के ईवीएम से 100 फीसदी मिलान की मांग वाली याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को एक बार फिर से खारिज कर दिया था, वहीं उत्तर प्रदेश में ईवीएम की सुरक्षा को लेकर विपक्ष की ओर से उठाए गए सवालों को भी चुनाव आयोग ने खारिज कर दिया।

इस दोहरे झटके के बाद विपक्ष अपने तरीकों से ईवीएम की सुरक्षा की कोशिश में लगा हुआ है। उत्तर प्रदेश के चार जिलों में ईवीएम की सुरक्षा को लेकर विपक्ष की ओर से सवाल उठाए गए थे। चुनाव आयोग ने ईवीएम सुरक्षा को लेकर उठाए गए सवालों के जवाब में मंगलवार को साफ किया कि गाजीपुर, चंदौली, डुमरियागंज और झांसी में ईवीएम को लेकर जो विपक्ष की ओर से आरोप लगाए गए वो असल तथ्यों से परे है।

जिन ईवीएम का मतदान में इस्तेमाल हुआ है वो पूरी तरह सुरक्षित हैं। दरअसल, मंगलवार को उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में सोशल मीडिया पर फर्जी वीडियो वायरल कर दिए गए थे, जिसमें कथित रूप से ईवीएम हटाए जाने का दृश्य दिखाया गया था। इसे लेकर कुछ जगहों पर प्रदर्शन भी हुए थे।

केंद्रीय नियंत्रण कक्ष बना, सुनी जाएंगी शिकायतें

चुनाव आयोग ने विपक्ष से कहा कि ईवीएम सुरक्षित है और वे विश्वास बनाए रखें। साथ ही एक केंद्रीय स्तर पर एक कंट्रोल रूम भी बना दिया है जहां स्ट्रांगरूम की सुरक्षा से जुड़ी शिकायतें की जा सकेंगी।

वहीं, आयोग ने लापरवाही के सभी आरोपों को निराधार करार दिया है। कहा कि सभी मामलों में ईवीएम और वीवीपैट को राजनीतिक दलों के उम्मीदवारों के सामने सील किया गया था और वीडियोग्राफी भी कराई गई थी। ऐसे में निराधार आरोप न लगाए जाएं।

Spread the love
Hindi News से जुड़े हर अपडेट और को जल्दी पाने के लिए Facebook Page को लाइक करें और विडियो देखने के लिए Youtube को सब्सक्राइब करें।

Leave A Reply