केजरीवाल जैसे नेताओं की वजह से राजनीति में नहीं आते अच्छे लोग – गंभीर

0

चैनल हिंदुस्तान डेस्क: पांच चरणों के बाद लोकसभा चुनाव की लड़ाई अब राजधानी दिल्ली तक आ पहुंची है। दिल्ली में मतदान से पहले आम आदमी पार्टी(AAP) और भारतीय जनता पार्टी(BJP) के बीच जंग छिड़ गई है। AAP नेता और पूर्वी दिल्ली से लोकसभा प्रत्याशी आतिशी ने गुरुवार को खिलाड़ी से नेता बने गौतम गंभीर पर उनके खिलाफ अभद्र पर्चे बांटने का आरोप लगाया। आतिशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में रोते हुए गंभीर के खिलाफ मोर्चा खोला, तो गौतम ने भी पलटवार किया।

शुक्रवार सुबह भी गौतम ने अरविंद केजरीवाल पर पलटवार किया। गौतम गंभीर ने कहा कि आज अच्छे लोग राजनीति में नहीं आना चाहते हैं, क्योंकि वह अरविंद केजरीवाल जैसे लोगों के सामने खड़े नहीं होना चाहते हैं। केजरीवाल लगातार संक्रीण मानसिकता की राजनीति को बढ़ावा दे रहे हैं।

उन्होंने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और आतिशी पर मानहानि का मुकदमा कर दिया है।

आतिशी ने क्या आरोप लगाए…

गुरुवार को जब दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के साथ आतिशी मीडिया से बात करने आईं तो फफक-फफक कर रोने लगीं। आतिशी का आरोप था कि गौतम गंभीर और भारतीय जनता पार्टी ने पूर्वी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र में कुछ ऐसे पर्चे बंटवाएं हैं, जिनमें उनके खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग किया गया है।

आम आदमी पार्टी के अनुसार इस पर्चे में लिखा है कि आतिशी ने आंध्र प्रदेश में प्राइमरी स्कूल के लिए काम किया। प्राइमरी स्कूल के लिए काम करने वाला शख्स शिक्षा नीति कैसे तैयार कर सकता है। इसके अलावा भी अन्य कई बातों को इस पर्चे में लिखा गया है, जिसपर आम आदमी पार्टी ने आपत्ति दर्ज कराई है।

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया समेत पूरी आम आदमी पार्टी ने गौतम गंभीर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। सिर्फ इतना ही नहीं, AAP की तरफ से सोशल मीडिया पर भी आतिशी के समर्थन में और गौतम गंभीर के खिलाफ कैंपेन चलाया गया।

गौतम गंभीर ने क्या दिया जवाब…

आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया तो बीजेपी के पूर्वी दिल्ली से उम्मीदवार गौतम गंभीर भड़क गए। उन्होंने कहा कि अगर आतिशी ने आरोप को सही साबित कर दिया जाए तो वह अपना नामांकन वापस ले लेंगे और चुनाव मैदान से हट जाएंगे। उन्होंने चैलेंज दिया कि अगर यह साबित हुआ कि मैंने यह किया है तो मैं अभी अपनी उम्मीदवारी वापस ले लूंगा। अगर नहीं तो क्या आप राजनीति छोड़ेंगे?

गौतम गंभीर ने कहा कि वह राजनीति में कुछ अच्छा करने के लिए आए हैं, ना कि इस तरह के हथकंडों का इस्तेमाल करने के लिए आए हैं। ना सिर्फ पलटवार बल्कि गौतम गंभीर ने अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और आतिशी के खिलाफ मानहानि का केस भी कर दिया है और माफी मांगने को कहा है।

बीजेपी उम्मीदवार ने कहा कि उन्हें शर्म है कि उनके राज्य का मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जैसा है, जो एक चुनाव जीतने के लिए इस हद तक जा सकता है। गौतम गंभीर के समर्थन में उनकी पार्टी पूरी तरह से साथ आ गई है, बीजेपी भी लगातार AAP पर हमलावर है।

Spread the love
Hindi News से जुड़े हर अपडेट और को जल्दी पाने के लिए Facebook Page को लाइक करें और विडियो देखने के लिए Youtube को सब्सक्राइब करें।

Leave A Reply