Breaking News
Home / खेल / भारत ने रचा इतिहास, पहली बार Australia में भारत के नाम हुई टेस्ट-वनडे सीरीज

भारत ने रचा इतिहास, पहली बार Australia में भारत के नाम हुई टेस्ट-वनडे सीरीज

चैनल हिंदुस्तान डेस्क: टेस्ट सीरीज में मेजबान कंगारुओं को रौंदकर 70 साल में पहली बार इस देश में इतिहास रचने वाली टीम इंडिया ने अब ऑस्ट्रेलिया की धरती पर पहली बार कोई बाइलैटरल (द्विपक्षीय) वनडे सीरीज जीतने का ‘विराट कारनामा’ किया है। मेलबर्न वनडे में ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से मात देकर भारत ने कंगारुओं की धरती पर पहली बार कोई बाइलैटरल (द्विपक्षीय) वनडे सीरीज में जीत हासिल की है।

इस वनडे सीरीज जीत के साथ ही भारत ने 2018-2019 ऑस्ट्रेलियाई दौरे का अंत बिना कोई सीरीज गंवाए किया है। 70 साल में यह पहला मौका है जब भारत ने ऑस्ट्रेलिया में एक ही दौरे पर दो सीरीज (टेस्ट और वनडे) अपने नाम की है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत ने तीन मैचों की टी-20 सीरीज 1-1 की बराबरी पर खत्म की। उसके बाद टेस्ट सीरीज में 2-1 से ऐतिहासिक जीत दर्ज की और अब वनडे इंटरनेशनल सीरीज भी भारत 2-1 से जीतने में कामयाब रहा।

वनडे सीरीज की बात करें तो टीम इंडिया ने इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की धरती पर 12 सीरीज खेली हैं, मगर इसमें एक सीरीज को छोड़ दिया जाए तो बाकी सभी मल्टीनेशन वनडे सीरीज रहीं। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एकमात्र द्विपक्षीय वनडे सीरीज साल 2016 में खेली गई थी। पांच मैचों की इस सीरीज में भारत को 1-4 से हार झेलनी पड़ी थी। ओवरऑल रिकॉर्ड देखा जाए तो भारत ने ऑस्ट्रेलिया में कुल 51 वनडे खेले हैं जिसमें 13 में उन्हें जीत मिली जबकि 36 मैच हार गए और 2 बेनतीजा रहे।

1984-1985 में गावस्कर की कप्तानी में जीता था भारत

टीम इंडिया ने वैसे तो इससे पहले ऑस्ट्रेलिया में दो वनडे सीरीज जीती हैं, लेकिन वह बाइलैटरल (द्विपक्षीय) नहीं बल्कि मल्टीनेशन वनडे सीरीज रहीं। भारत ने 1984-1985 में बेंसन एंड हेजेस वर्ल्ड चैंपियनशिप टूर्नामेंट जीता था। इसके बाद भारत ने 2007-2008 में कॉमनवेल्थ बैंक वनडे ट्राई सीरीज अपने नाम की थी।

1984-1985 में भारत ने सुनील गावस्कर की कप्तानी में कंगारुओं की धरती पर मल्टीनेशन वनडे टूर्नामेंट जीता था। इस टूर्नामेंट के एक मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पीटकर आठ विकेट से यादगार जीत दर्ज की थी। एमसीजी पर 1984-1985 में बेंसन एंड हेजेस वर्ल्ड चैंपियनशिप भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों के लिए ही बहुत महत्वपूर्ण थी। टीम इंडिया को नॉकआउट करने के लिए ऑस्ट्रेलिया को 223 रन बनाकर मेहमान टीम को 160 रन के स्कोर पर रोकने की जरूरत थी।

Spread the love

About admin

Check Also

युवराज सिंह प्रेस कॉन्फ्रेंस में हुए भावुक, लिया क्रिकेट से संन्यास

चैनल हिंदुस्तान डेस्क: भारतीय क्रिकेट टीम के हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह ने सोमवार को मुंबई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *