Breaking News
Home / राज्य / मात्र13 रुपए का कर्ज माफ़ किया कमलनाथ कमलनाथ सरकार ने, किसान ने कहा इतने की बीड़ी पी जाता हूं

मात्र13 रुपए का कर्ज माफ़ किया कमलनाथ कमलनाथ सरकार ने, किसान ने कहा इतने की बीड़ी पी जाता हूं

चैनल हिंदुस्तान डेस्क: मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार ‘जय किसान ऋण मुक्ति योजना’ के तहत कर्जमाफी कर रही हैं। लेकिन इस दौरान कर्जमाफी की जो सूची सरकारी दफ्तरों में चस्पा की जा रही है उससे कई किसान बेहद परेशान नजर आ रहे हैं। प्रदेश में कई ऐसे किसान सामने आए हैं जिनका 13 से 30 रुपये तक का ही कर्ज माफ हुआ है, जबकि उन पर लाखों रुपए बकाया है। इसके बाद नाराज किसानों ने कहा कि जितने रुपए का कर्ज माफ हो रहा है उतने की तो हम बीड़ी पी जाते हैं। किसानों का कहना है कि सबसे बड़ी दिक्कत सरकारी बैंकों में आ रही है जहां कर्जमाफी की सूची अंग्रेजी में लगी है।

दरअसल, मध्य प्रदेश में चुनाव पूर्व कांग्रेस पार्टी ने किसानों की कर्जमाफी का वादा किया था, जिसके बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश की कुर्सी संभालते ही कर्जमाफी के फैसले पर दस्तखत किए थे। लेकिन अब कर्जमाफी को लेकर किसानों में उहापोह की स्थिति है। प्रदेश में जब कर्जमाफी के बारे में किसानों से पूछा गया तो पासबुक लेकर बैंकों और सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाने की बात कही।

टीवी चैनल एनडीटीवी के मुताबिक किसान शिवपाल का कहना है, ‘सरकार कर्ज माफ कर रही है तो पूरा माफ होना चाहिए। 13 रुपए और पांच रुपए माफ हो रहे हैं इतने की तो हम बीड़ी पी जाते हैं।’ किसान शिवलाल ने बताया कि सरकार ने 13 रुपए का कर्ज माफ किया है जबकि उन पर 20 हजार से ज्यादा का कर्ज है।

किसानों की एक और शिकायत है कि सूची में उनका नाम और जानकारियां अंग्रेजी में है। जिसकी वजह से उन्हें परेशानी हो रही है। किसानों का कहना है कि अंग्रेजी पढ़ना हम में से किसी के वश की बात नहीं है। इस पर बैंक अधिकारियों का कहना है कि उनके पास हिन्दी में सॉफ्टवेयर नहीं है। वहीं सरकार का कहना है कि कोई चूक हुई है तो उसे ठीक किया जाएगा। फिलहाल इस पूरे मामले के सामने आने के बाद बीजेपी ने सरकार की इस योजना को छलावा बताया है।

Spread the love

About admin

Check Also

आठ दिन में तीसरी बार कोर्ट में पेश हुए राहुल गांधी, मिली जमानत

चैनल हिंदुस्तान डेस्क: कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अहमदाबाद की स्थानीय कोर्ट ने जमानत दे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *