सत्यपाल मलिक जम्मू कश्मीर नए राज्यपाल होंगे, इस नियुक्ति को कई मायनों में अहम माना जा रहा

0

डेस्क: जम्मू कश्मीर के नए राज्यपाल सत्यपाल मलिक राज्य में इस पद पर पिछले 51 साल में नियुक्त किए जाने वाले प्रथम राजनीतिज्ञ होंगे। यह नियुक्ति केंद्र के इस संकटग्रस्त राज्य में पूर्व अधिकारियों पर अब तक निर्भर रहने की रणनीति में एक बदलाव का संकेत दे रही है। उन्हें जम्मू-कश्मीर का राज्यपाल बनाने के पीछे कई वजहें मानी जा रही हैं। पीडीपी के बागियों को मिलाकर बीजेपी की सरकार बनाने की कोशिशें अब तेज हो सकती हैं।

सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार चाहती है कि जम्मू-कश्मीर में ब्यूरोक्रेट या रिटायर्ड जनरल की बजाए किसी राजनेता को भेजा जाए, जो वहां की जनता से जुड़ सके। सूत्रों के मुताबिक राज्यपाल के लिए दो और पूर्व मुख्यमंत्रियों के नामों पर भी विचार किया गया, लेकिन अंत में मलिक का नाम फाइनल किया गया।

कर्ण सिंह के बाद वह पिछले 51 साल में जम्मू कश्मीर का राज्यपाल नियुक्त होने वाले प्रथम राजनीतिक नेता होंगे। सिंह का कार्यकाल 1967 में समाप्त हुआ था। एनएन वोहरा एक दशक से ज्यादा समय तक यहां के राज्यपाल रहे। अमरनाथ यात्रा को देखते हुए उन्हें कार्य विस्तार दिया गया था।
बदलते राजनीतिक परिदृश्य के आलोक में भी उनकी नियुक्ति को देखा जा सकता है। दरअसल, यह चर्चा है कि पीडीपी के असंतुष्ट विधायक भाजपा से हाथ मिला सकते हैं। मलिक को जम्मू-कश्मीर का राज्यपाल ऐसे समय में बनाया गया है जब राज्य में अगले महीने स्थानीय निकायों में चुनाव होने हैं।

Spread the love
Hindi News से जुड़े हर अपडेट और को जल्दी पाने के लिए Facebook Page को लाइक करें और विडियो देखने के लिए Youtube को सब्सक्राइब करें।

Leave A Reply