सोशल मीडिया पर प्रचार का खर्च भी चुनाव खर्च में जुड़ेगा

0

चैनल हिंदुस्तान डेस्क: राजनीतिक दलों और प्रत्याशियों के निर्वाचन अभियान में सोशल मीडिया के इस्तेमाल और विनियमन को लेकर चुनाव आयोग ने निर्देश जारी किया है। विकिपीडिया, ट्विटर, यू ट्यूब, फेसबुक, वर्चुअल गेम्स व मोबाइल एप्प पर प्रत्याशियों और राजनीतिक दलों द्वारा संसदीय चुनाव में किये गये प्रचार पर खर्च को निर्वाचन व्यय में जोड़ा जायेगा।

इसमें विज्ञापन प्रचारित करने के लिए इंटरनेट कंपनियों और वेबसाइटों को किये गये भुगतान, प्रचार संबंधी व्यय, प्रत्याशियों और राजनीतिक दलों द्वारा अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स बनाये रखने के लिए नियुक्त लोगों को दिये गये वेतन को शामिल किया गया है।

Spread the love
Hindi News से जुड़े हर अपडेट और को जल्दी पाने के लिए Facebook Page को लाइक करें और विडियो देखने के लिए Youtube को सब्सक्राइब करें।

Leave A Reply