Breaking News
Home / राष्ट्रीय / VVPAT पर सुप्रीम कोर्ट ने निर्वाचन आयोग से जवाब मांगा

VVPAT पर सुप्रीम कोर्ट ने निर्वाचन आयोग से जवाब मांगा

चैनल हिंदुस्तान डेस्क: सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को निर्वाचन आयोग को 28 मार्च तक यह बताने का निर्देश दिया कि क्या वह आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव के लिए मौजूदा समय में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में किये जाने वाले वीवीपैट (VVPAT) के नमूना सर्वेक्षण की संख्या बढ़ाकर एक से ज्यादा कर सकता है।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस दीपक गुप्ता की पीठ ने आयोग से कहा कि वह 28 मार्च को अपराह्न चार बजे तक इस संबंध में जवाब दें। पीठ ने आयोग को यह बताने का भी निर्देश दिया कि क्या मतदाताओं की संतुष्टि के लिए वोटर वेरिफिएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) की संख्या बढ़ायी जा सकती है। पीठ ने संकेत दिया कि वह चाहती है कि वीवीपैट की संख्या बढ़ायी जाये।

उसने कहा कि यह आशंकाएं पैदा करने का सवाल नहीं है, बल्कि यह ‘संतुष्टि’ का मामला है। पीठ ने इस निर्देश के साथ ही आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व में 21 विपक्षी नेताओं की याचिका पर सुनवाई एक अप्रैल के लिए स्थगित कर दी। इस याचिका में मांग की गयी है कि लोकसभा चुनावों में हर विधानसभा सीट में कम से कम 50 फीसदी वोटिंग मशीनों की वीवीपैट पर्चियों की जांच की जाये।

Spread the love

About desk

Check Also

शाहीन बाग प्रदर्शन पर बोले दिलीप घोष – कोई मर क्यों नहीं रहा, क्या उन्होंने अमृत पी लिया?

चैनल हिंदुस्तान डेस्क: देश के कई राज्‍यों में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और नेशनल रजिस्‍टर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *